ग्वार व ग्वार गम में तेज़ी बनी रहेगी, आज बाज़ार तेज़ी के साथ बंद हुआ ।

आज ग्वारग्वार गम के जनवरी वायदे, NCDEX वायदा बजार में मंदी के साथ बंद हुये । ग्वारग्वार गम क्रमशः 44 रुपये व 195 रुपये निचे गिर कर बंद हुए । स्थानीय बाज़ारों में ग्वारग्वार गम में तेज़ी बनी हुयी है। बाज़ार के जानकारों के अनुसार ये ग्वारग्वार गम के भावों में तेजी बनी रहेगी। जनवरी का ग्वारग्वार गम वायदा तो मुनाफ दे कर ही बंद हुआ है ।  ग्वारग्वार गम की तेज़ी के लिए फ़रवरी का महिना महत्वपूर्ण रहेगा. उम्मीद है की ग्वारग्वार गम के भावों में तेज़ी बनी रहेगी

दूसरी तरफ देखे तो आज ग्वारग्वार गम का फ़रवरी का वायदा सौदा तेज़ी के साथ बंद हुआ है । आज फरवरी वायदा में ग्वार गम में 148 रुपये व ग्वार में 55 रूपए की तेज़ी देखी गयी । वैसे भी वायदा बाज़ार NCDEX में ज्यादा तर ग्वारग्वार गम का व्यापार फरवरी के सौदे में ही हो रहा है।   




इस बार ग्वार के लिए दो महत्वपूर्ण फंडामेंटल कारक है क्रूड आयल के भाव व ग्वार का उत्पादन । ग्वारग्वार गम के भाव को मांग ऊपर की और ले जा रही है लेकिन स्थानीय कमोडिटी होने कारण मुनाफा वसूली में ऊपर के स्तर टिक नहीं पा रहे । ग्वारग्वार गम में लम्बे निवेश के कारण तेज़ी बनी रहेगी । नया माल बाज़ार में 8 महीने बाद आएगा । 

असिंचित क्षेत्र की ग्वार एक मतवपूर्ण खरीफ फसल है । अपनी विशिष्ठ उपयोगिता के कारण देश से निर्यात की जाने वाली महत्वपूर्ण कृषि उत्पाद है । ग्वार गम बहुत से उद्योगों में काम आने वाला उत्पाद है । जिसका उपयोग प्रतिवर्ष बढ़ता ही जारहा है । ग्वार के व्यापर को प्रभावित करने में बहुत से कारक जिम्मेवार है जैसे अन्तराष्ट्रीय, क्षेत्रीय, राजनैतिक, आर्थिक, मौषमी, मुद्रा विनिमियन आदि....


No comments:

Post a Comment

MATCHED CONTENT / SIMILAR NEWS