स्थानीय बाजारों में ग्वार की नई फसल की आवक शुरू हुई ।




स्थानीय बाजारों में ग्वार की नई फसल की आवक शुरू हो गयी है सिंचित एरिया जैसे कि गंगानगर, हनुमानगढ़ एवं हरियाणा गवार की फसल की कटाई शुरू हो गई है सिंचित इलाके के स्थानीय कृषि बाजारों में ग्वार  की आवक अच्छी है लेकिन बारानी इलाकों के स्थानीय बाजारों में ग्वार की आवक अभी कमजोर है प्राप्त जानकारी के अनुसार हरियाणा बेल्ट में फसल पकाई के समय ज्यादा बारिश के कारण ग्वार का दाना काला पड़ गया है लेकिन काले दाने साधारण दाने की कीमतों में कोई ज्यादा अंतर नहीं है। व्यापारी इसे साधारण ग्वार की तरह ही  खरीद रहे हैं ग्वार की फसल की बुवाई बरानी इलाके में देर से शुरू हुई थी इसलिए उन इलाकों के स्थानीय कृषि बाजारों में ग्वार की आवक अभी शुरू नहीं हुई है बरानी इलाको के बाजारों में ग्वार की अच्छी आवक शुरू होने में अभी 10-15 दिन और  लग सकते हैं यह भी समाचार है कुछ बाजारों में थोड़ी बहुत मात्रा में ग्वार की आवक शुरू हो गई है 



बाजार के जानकारों के अनुसार इस साल 50,00,000 से 70,00,000 ग्वार की बोरियों (100 किग्रा प्रति बोरी )  के उत्पादन का अनुमान है राजस्थान सरकार द्वारा जारी सरकारी आंकड़ों के अनुसार इस साल 34,18,000 हेक्टेयर क्षेत्र में ग्वार की बिजाई हुई है इस साल ग्वार उत्पादन क्षेत्रों बारिश कमजोर थी समस्त ग्वार उत्पादन क्षेत्र में बारिश एक जैसी भी नहीं थी इससे अनुमान लगाया जाता है कि ग्वार का उत्पादन व उत्पादकता इस साल पिछले साल के मुकाबले बहुत कम रहेगा

स्थानीय बाजारों में ग्वार की नई फसल की आवक शुरू हो गयी है । सिंचित एरिया जैसे कि गंगानगर, हनुमानगढ़ एवं हरियाणा गवार की फसल की कटाई शुरू हो गई है । सिंचित इलाके के स्थानीय कृषि बाजारों में ग्वार  की आवक अच्छी है । लेकिन बारानी इलाकों के स्थानीय बाजारों में ग्वार की आवक अभी कमजोर है । प्राप्त जानकारी के अनुसार हरियाणा बेल्ट में फसल पकाई के समय ज्यादा बारिश के कारण ग्वार का दाना काला पड़ गया है । लेकिन काले दाने व साधारण दाने की कीमतों में कोई ज्यादा अंतर नहीं है। व्यापारी इसे साधारण ग्वार की तरह ही  खरीद रहे हैं । ग्वार की फसल की बुवाई बरानी इलाके में देर से शुरू हुई थी इसलिए उन इलाकों के स्थानीय कृषि बाजारों में ग्वार की आवक अभी शुरू नहीं हुई है । बरानी इलाको के बाजारों में ग्वार की अच्छी आवक शुरू होने में अभी 10-15 दिन और  लग सकते हैं । यह भी समाचार है कुछ बाजारों में थोड़ी बहुत मात्रा में ग्वार की आवक शुरू हो गई है ।   Guar, guar gum, Guar gum price, Guar gum export,  guar gum news, NCDEX guar gum price, Guar gum report, guar seed production, guar gum consultant, guar seed export, guar gum export from india 2018-2019 , guar, guar gum, guar gum news, Guar gum export-2018-2019, Guar gum export-from India during 2017-2018, Guar gum export data -2018-2019, Guar gum rate , NCDEX guar gum price,  guar gum export-2018, guar gum export-2019, guar gum demand-2018, guar gum demand-2019, guar gum production, guar gum cultivation, guar gum cultivation consultancy, Guar, guar gum, guar price, guar gum price, guar demand, guar gum demand guar seed production, guar seed stock, guar seed consumption, guar gum cultivation, guar gum cultivation in india, Guar gum farming, guar gum export from india, Fundamentally Guar seed and guar gum are very strong , Guar, guar gum, guar price, guar gum price, guar demand, guar gum demand, guar seed production, guar seed stock, guar seed consumption, guar gum cultivation, guar gum cultivation in india, Guar gum farming, guar gum export from india , guar seed export, guar gum export, guar gum farming, guar gum cultivation consultancy, today guar price, today guar gum price, ग्वार, ग्वार गम, ग्वार मांग, ग्वार गम निर्यात 2018-2019, ग्वार गम निर्यात -2019, ग्वार उत्पादन, ग्वार कीमत, ग्वार गम मांग, ग्वार के भाव, ग्वार की मांग, ग्वार गम की मांग, ग्वार गम का निर्यात, ग्वार गम का उत्पादम, ग्वार की कीमत, ग्वार का ताज़ा भाव,  ग्वार गम की मांग, ग्वार का स्टॉक,


ग्वार का निर्यात इस साल पिछले साल के मुकाबले ज्यादा है गवार की मांग अमेरिका में धीरे-धीरे बढ़ रही है कच्चे तेल उत्पादन की फ्रेकिंग गतिविधि ( जिसमें ग्वार गम काम में लाया जाता है ) अमेरिका में बढ़ रही है अमेरिका में तेल उत्पादन क्षेत्रों ( आयल रिग ) में इस साल 10% की बढ़ोतरी हुई है कच्चे तेल के दाम अंतरराष्ट्रीय बाजारों में दिनों दिन ऊपर जा रहे हैं कच्चे तेल के दाम लगातार बढ़ रहे हैं अब तक कच्चे तेल के दाम $ 84 प्रति बैरल के आसपास पहुंच चुके हैं,  यद्यपि WTI कच्चे तेल का दाम $73 प्रति बैरल के आसपास चल रहा है अमेरिका ने ईरान में उत्पादित कच्चे तेल के व्यापार पर प्रतिबंध लगा दिया है जिससे अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की उपलब्धता बहुत ही कम हो गई है



अगले दो महीनों में ग्वार व ग्वार गम की कीमतों पर ग्वार की आवक का दबाव बना रहेगा । अगर अगले 15-20 दिन  में ग्वार की आवक स्थानीय बाजारों में कमजोर रहती है तो वह ग्वार और ग्वार गम की कीमतों में बढ़ोतरी होगी पूरे साल में ग्वार की फसल सिर्फ एक मौसम में ही ली जाती है इसलिए निर्यातक व स्टाकिस्ट को पूरे साल के ग्वार की खरीदी इसी सीजन में ही करनी होती है चीन सोया मील ( सोयाबीन चुरी ) का अमेरिका से सबसे बड़ा आयातक देश है लेकिन इस साल अमेरिका व चीन के व्यापारिक रिश्ते में खटास बढ़ती जा रही है  जिससे ग्वार कोरमा चीन के बाजारों में सोया मील की जगह ले सकता है अगर ग्वार कोरमा  या ग्वार चूरी को चीन में अच्छा बाजार मिल जाता है तो ग्वार की कीमतों में अभी के स्तर से और भी बढ़ोतरी हो सकती है

अगस्त 2018 तक ग्वार गम का निर्यात 2,22,001 मेट्रिक टन हो गया है, जो कि पिछले साल से ज्यादा है कीमतों के हिसाब से ग्वार गम का एक्सपोर्ट / निर्यात अगस्त-2018 तक 301 मिलियन डॉलर या 2039 करोड रुपए का हुआ है



No comments:

Post a Comment

MATCHED CONTENT / SIMILAR NEWS